12th के बाद क्या करें? यहाँ जानें 12th के बाद किस-किस फील्ड में जा सकते हैं आप!

12th के बाद क्या करें - Knowledgeadda247

अक्सर बचपन से हमें बताया जाता है कि 12वीं कर लो फिर आराम ही आराम है लेकिन क्या सच में ऐसा होता है? हर व्यक्ति के मन में एक ही सवाल आता है कि 12th के बाद क्या करें, क्योकि इसके बाद ही तो जिंदगी की असली लड़ाई शुरु होती है और किसी को पता नहीं होता कि Best Courses after 12th आखिर है क्या और किस क्षेत्र में हमें अपना करियर बनाना चाहिए। ज्यादातर माता-पिता कहते हैं कि स्कूल खत्म करने के बाद आराम है लेकिन इसके बाद भविष्य बनाने की चिंता बच्चों के ऊपर आ जाती है और वो शिकन माथे पर हर टीनएज वाले बच्चों में नजर आती है। इसमें सबसे बड़ा और कॉमन सवाल यही है कि कौन सी फील्ड चुने और सही करियर कैसे बनाएं।

इस सवाल के जवाब में बच्चे उलझे रहते हैं और उनका समय बीततता जाता है लेकिन अगर ये प्लानिंग आपने 12वीं से ही करनी शुरु कर दी तो सोचिए आपका करियर कितना आगे जा सकता है। इस आर्टिकल में 12वीं के बाद आप क्या कर सकते हैं फिर आप चाहे साइंस से हों या आर्ट्स से हों आपको Best Course का विकल्प हम बताएंगे। साथ ही इस लेख के जरिये हम आपको 12th के बाद क्या करें और 12th के बाद किस-किस फील्ड में सकते हैं के बारे में जानकारी प्रदान करेंगे।

12th के बाद क्या करें? | Best Courses after 12th class in Hindi

छात्रों को अपने इंट्रेस्ट के मुताबिक कोर्स करने चाहिए जिसमें अपना करियर बनाकर सफलता पा सकें। 12वीं के बाद करियर को लेकर फैसला लेना मुश्किल होता है लेकिन अगर इसे सोच-समझकर लिया जाए तो आपका भविष्य बन सकता है। हम आपको इस लेख में बताएंगे कि 12वीं के बाद कोर्सेस के बारे में, जिससे आपको सही करियर का ऑप्शन सही तरीके से मिल सके। 12वीं में बच्चे दो तरह के सबजेक्ट लेते हैं जिनमें साइंस साइट और आर्ट साइट होता है अब ये बच्चे के टैलेंट पर निर्भर करता है कि किसे किस विषय से पढ़कर आगे क्या करना है।

विज्ञान वर्ग के छात्रों के लिए कोर्स | Course for Science Students Hindi Me

जो छात्र अपना करियर विज्ञान वर्ग में बनाना चाहते हैं तो उनके लिए इंजीनियरिंग, मेडिकल कोर्सेस के अलावा भी कई कोर्स हैं जिन्हें करने के बाद आप अपना भविष्य तय कर सकते हैं। इसके साथ ही इन कोर्सेस का स्कोप भी काफी अच्छा होने पर छात्रों को नौकरी भी आसानी से मिलती है। 12वीं के बाद PCM वाले छात्रों के लिए ये कोर्स सही रहते हैं जो इस प्रकार है-

  • BE/BTech-
  • Bachelor of Architecture (BArch)
  • BSc (Science)
  • BCA (IT & Software)
  • BSc (IT & Software)
  • MBBS
  • Post Basic BSc Nursing
  • BSc (Science)
  • Bachelor of Pharmacy (BPharma)
  • विज्ञान वर्ग के छात्रों के लिए आर्ट्स कोर्सेस भी उपलब्ध हैं जो इस प्रकार हैं-
  • BA in Humanities & Social Sciences
  • BA in Arts (Fine/Visual/Performing)
  • Bachelor of Fine Arts (BFA)
  • BDes in Animation
  • BA LLB
  • BDes in Design
  • BSc in Hospitality & Travel
  • BSc in Design
  • Bachelor of Journalism & Mass Communication (BJMC)
  • BHM in Hospitality & Travel
  • Bachelor of Journalism (BJ)
  • Bachelor of Mass Media (BMM)
  • BA in Hospitality & Travel
  • BA in Animation
  • Diploma in Education (DEd)

विज्ञान वर्ग के छात्रों के लिए कॉमर्स कोर्स भी उपलब्ध हैं जो इस प्रकार हैं-

  • BCom in Accounting & Commerce
  • BBA LLB

नौकरी पाने के लिए विज्ञान वर्ग के छात्रों के लिए कोर्स – विज्ञान वर्ग के छात्रों मेडिकल और इंजिनयरिंग के अलावा कई दूसरे कोर्स करके भी अच्छा रोजगार पा सकते हैं। इनमें से कुछ कोर्स इस प्रकार हैं..

नॉन-टेक्नोलॉजी- 12वीं के बाद छात्र नैनो टेक्नोलॉजी में बीएससी या बीटेक कर सकते हैं। इसके बाद इसी विषय में एमएससी या एमटेक करके अपना बेहतरीन करियर बना सकते हैं।

स्पेस साइंस- इसमें तीन साल की बीएससी और चार साल के बीटेक से लेकर पीएचडी तक के कोर्सेस शामिल है। ये कोर्सेस खासतौर पर बेंगलुरू के IISC (Indian Institute of Science) में कराये जाते हैं।

रोबोटिक साइंस- रोबोटिक साइंस में एमई की डिग्री प्राप्त कर चुके छात्रों को इसरो जैसे प्रतिष्ठित संस्थान में रिसर्च वर्क की नौकरी मिल जाती है।

एस्ट्रो-फिजिक्स- चार या तीन साल के बैचलर्स प्रोग्राम में एडमिशन ले सकते हैं। एस्ट्रोफिजिक्स में सीधे तौर पर काम करने वाले स्टूडेंट्स इसरो जैसे रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन में साइंटिस्ट बन जाते हैं।

डेयरी साइंस- 12वीं करने के बाद स्टूडेंट ऑल इंडिया बेसिस पर एंट्रेंस एग्जाम पास करते हैं और इसके बाद चार साल की ग्रेजुशन डेयरी टेक्नोलॉजी के कोर्स में एडमिशन ले सकते हैं। कुछ इंस्टीट्यूट डेयरी टेक्नोलॉजी में दो साल का डिप्लोमा कोर्स भी ऑफर कर देते है।

एनवायर्नमेंटल साइंस- इकोलॉजी, डिजास्टर मैनेजमेंट, वाइल्ड लाइफ मैनेजमेंट, पॉल्यूशन कंट्रोल जैसे विषय पढ़ाए जाते हैं और इस क्षेत्र में नौकरी की आसानी से मिल जाती है।

माइक्रो-बायोलॉजी- बीएससी इन लाइफ साइंस या बीएससी इन माइक्रो-बायोलॉजी कोर्स भी आप कर सकते हैं।

वॉटर साइंस- इस कोर्स के अंतर्गत छात्र हाइड्रोमिटियोरोलॉजी, हाइड्रोजियोलॉजी, ड्रेनेज बेसिन मैनेजमेंट, वॉटर क्वॉलिटी मैनेजमेंट, हाइड्रोइंफॉर्मेटिक्स जैसे विषयों की पढ़ाई कर सकते हैं।

विज्ञान वर्ग के छात्रों के लिए नौकरी की संभावनाएं ज्यादा होगी। गवर्मेंट और प्राइवेट दोनों सेक्टर में आपको अपने कोर्स के मुताबिक नौकरी के अवसर मिल सकते हैं। इसमें आप इंजीनियर, हेल्थकेयर प्रोफेशनल, बिजनेस प्रोफेशनल और साइंटिस्ट भी बन सकते हैं। इसके अलावा टीचर बनने के भी साइंस वर्ग के बच्चों के पास कई विकल्प हैं जो अपना सुनहरा भविष्य बना सकते हैं।

कॉमर्स वर्ग के छात्रों के लिए कोर्स | Course for Commerce Students in Hindi

विज्ञान के बाद कॉमर्स सबसे डिमांडिंग कोर्स होता है। कॉमर्स के क्षेत्र में मुख्य रूप से एक्सचेंज ऑफ गुड्स, मनी एक्सचेंज, बिजनेस डेवलपमेंट जैसे विषय शामिल हैं और कॉमर्स वर्क के छात्र बिजनेस डेवलपमेंट मैनेजर, चार्टेड अकाउंटेंट, चार्टेड फाइनेंशियल एनालिस्ट, बिजनेस रिप्रेजेंटिव, बिजनेस मैनेजर के क्षेत्र में नौकरी पा ससते हैं और इसमें उन्हें सैलरी भी अच्छी प्राप्त होती है। इनमें आप ये दो कोर्स कर सकते हैं-

1. Bachelors of Commerce (B.Com)- जो छात्र अपना करियर कॉमर्स के क्षेत्र में बनाने की इच्छा रखते हैं उनके लिए बीकॉम के बाद बहुत सी संभावनाएं हैं जिनमें वे पढ़ाई कर सकते हैं। बीकॉम में ज्यादातर छात्र business scenarios, buying and selling goods, banking and communications, Entrepreneurship, Supply Chain Management and Operations जैसे विषय चुनते हैं। जो छात्र बीकॉम करते हैं, वे फाइनेंस मैनेजमेंट, अकाउंट मैनेजमेंट और बिजनेस डेबलपमेंट में अपना करियर बनाकर अच्छा पैसा कमा सकते हैं। बीकॉम डिग्री कोर्स करने में 3 साल लगता है और छात्र, बीकॉम कोर्स में एडमिशन क्लास 12वीं के रिजल्ट के आधार पर ही ले सकते हैं।

2. Chartered Accountant (CA)- चार्टेड अकाउंटेंड का कोर्स एक महत्वकांक्षी कोर्स माना जाता है, इसके जरिए छात्र अपनी करियर के ग्रोथ को अच्छे से बढ़ा सकते हैं इसके साथ ही उन्हें अच्छे पैकेज पर भी रखा जा सकता है। कॉमर्स के छात्रों के लिए चार्टेड अकाउंटेंट सबसे बड़ा करियर डोमेन होता है। चार्टेड अकाउंटेट छात्रों को auditing, cost accounting, management accounting, tax management के काम में माहिर बनाकर अच्छी सैलरी दिलवाता है। कॉमर्स वर्ग के छात्रों के लिए कुछ ऐसे भी दूसरे कोर्स उपलब्ध हैं जो इस प्रकार हैं-

  • Bachelors of Commerce (B.Com)
  • Bachelors of Commerce (Honours) or B.com (Hons)
  • Bachelors in Economics
  • Bachelors of Business Administration (BBA)
  • Bachelor of Management Studies (BMS)

आर्ट्स वर्ग के छात्रों के लिए कोर्स | Course for Arts Students in Hindi

बी.ए. यानी बैचर्स ऑफ आर्ट्स 3 साल का कोर्स होता है। इस कोर्स की सबसे खास बात ये होती है कि इसमें कई स्पेशिएलाइजेशन कोर्स भी शामिल होते हैं। जिनमें B.A. Psychology, B.A. History, B.A. Archaeology, B.A. Economics, B.A. Journalism and Mass Communication, B.A. English, B.A. Hindi, B.A. Malayalam, B.A. in other languages, B.A. Sociology, B.A. Politics, B.A. Geography, B.A. Indian Culture, B.A. Social Work जैसे कोर्सेस आते हैं। चलिए बताते हैं कुछ और भी कोर्सेस जिनकी अवधियां कुछ इस तरह से हैं-

  • B.B.A. (Bachelor of Business Administration) – इसकी अवधि 3 साल है।
  • B.M.S. ( Bachelor of Management Science Course) इसकी अवधि 3 साल है।
  • B.F.A. (Bachelor of Fine arts Course) इसकी अवधि 3 साल है।
  • B.H.M. (Bachelor of Hotel Management Course) इसकी अवधि-3 साल है।
  • B.E.M. (Bachelor of Event Management Course) इसकी अवधि 3-4 साल है।
  • Integrated Law course- B.A.+L.L.B. Course जिसकी अवधि 5 साल है।
  • B.J.M. (Bachelor of Journalism and Mass Communications) इसकी अवधि 2-3 साल है।
  • B.F.D. (Bachelor of Fashion Designing. Course) इसकी अवधि 4 साल होती है।
  • B.El.Ed. (Bachelor of Elementary Education Course) इसकी अवधि 4 साल है।
  • B.P.Ed. (Bachelor of Physical Education) इसकी अवधि 1 साल है।
  • D.El.Ed. की अवधि 3 साल है।
  • B.SW. की अवधि 3 साल है।
  • Animation and Multimedia course इस कोर्स की अवधि बदलती रहती है लेकिन सामान्य रूप से 1-3 साल होती है।
  • B.RM. की अवधि 3 साल होती है।
  • Aviation courses (Cabin Crew) की समय अवधि 1 से 3 साल होती है।
  • B.B.S. की अवधि 3 साल होती है।
  • B.T.T.M की अवधि 3-4 साल होती है।

नोट- इस तरह से Best Courses after 12th class चुन सकते हैं और 12th के बाद क्या करें के सवाल का जवाब आसानी से प्राप्त कर सकते हैं साथ ही आप यहाँ 12th के बाद की सरकारी नौकरियों के बारे में जान सकते हैं। यदि आपको इससे जुड़े कुछ और सवाल पूछने हैं तो कृपया कमेंट बॉक्स में जरूर पूछें या अगर इस लेख में कुछ रह गया हो तो अपनी राय भी हमें जरूर दें।

Related posts

2 Thoughts to “12th के बाद क्या करें? यहाँ जानें 12th के बाद किस-किस फील्ड में जा सकते हैं आप!”

  1. Megharam

    12 arts के बाद B, Com, कर सकते हैं क्या

    1. No Arts ke bad aap Sirf Arts se related degree hi kar skte ho jabki Science bala Arts or Commerce ki degree kar skta hai or Commerce bala arts ki degree kar skta hai

Leave a Comment