हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान — Pros and Cons of Masturbation in Hindi

हस्तमैथुन एक ऐसा विषय है जिसके बारे में कोई खुल के बात नहीं करता है और यही कारण हमारे दिमाग में शंका का बीज बो देती है। यौन सुख को प्राप्त करने के लिए जब आप अपने गुप्तांगों को उत्तेजित करते हैं तो इसे हस्तमैथुन कहा जाता है। हस्तमैथुन करना यौन सुख को प्राप्त करने और अपनी कामोत्तेजना को शांत करने का सबसे कारगर और स्वस्थ विकल्प है। अगर आप हस्तमैथुन करते हैं तो आपके मन में एक प्रश्न जरूर उत्पन्न होता होगा कि हस्तमैथुन से हमारे शरीर पर बुरा असर पड़ता है या नहीं? इसी विषय पर प्रकाश डालते हुए आज हम हस्तमैथुन से जुड़ी उन सभी चीजों के बारे में बताएंगे जिसके बारे में आपको जानना चाहिए ताकि आपके मन में हस्तमैथुन को लेकर जो शंकाएं हैं वो दूर हो जाएं। तो चलिये आगे बढ़िए और हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान (Pros and Cons of Masturbation in Hindi) पढ़िये। इन्हें भी पढ़ें – काजू के फायदे और नुकसान!

हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान – आज के युवा

इस लेख में हम हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान के बारे के बारे में पढ़ेंगे। आज के युवाओं में सेक्स के प्रति इतनी जिज्ञासा उत्पन्न हो गई है कि वे सेक्स का सुख प्राप्त करने के लिए हस्तमैथुन का सहारा लेने लगे हैं। हस्तमैथुन जहां कामोत्तेजना को शांत करने का कार्य करता है वहीं इसके शारीरिक लाभ और हानि भी देखने को मिलते हैं। अगर आप हस्तमैथुन करते हैं तो आपको पता ही होगा कि हस्तमैथुन के दौरान हमारे शरीर में क्या परिवर्तन देखने को मिलते हैं और इसका एहसास कैसा होता है। जाहिर सी बात है कि हस्तमैथुन करने का एहसास इतना आनंददायक होता है कि हम यौन सुख के चरम सीमा हो प्राप्त करने के लिए अपने गुप्तांगों को बड़ी तेजी से उत्तेजित करते हैं और जब स्खलन होता है तब हमारे शरीर को सेक्स तृप्ति का अनुभव होता है। इन्हें भी पढ़ें – वजन घटाने के घरेलू उपाय!

अगर हम हस्तमैथुन का सबसे पहला परिणाम जानने की कोशिश करें तो यह होगा कि “हस्तमैथुन के दौरान हमारे शरीर से एक लिक्विड इजेक्ट (Eject) होता है जिसे वीर्य कहते है। जैसे यह हमारे शरीर से निकलता है तो इसकी पूर्ति करनी भी जरूरी है”। इसकी पूर्ति तो हमारा शरीर कर लेता है। लेकिन कुछ बातों का ध्यान रखते हुए एक स्वस्थ हस्तमैथुन आपके शरीर पर नकारात्मक प्रभाव नहीं डालता है। बस आपको हस्तमैथुन से जुड़े लाभ और हानि के बारे में पता होना चाहिए ताकि आप बिना किसी शंका के हस्तमैथुन का आनंद उठा सकें। तो आइये सबसे पहले जानते हैं हस्तमैथुन करने से हमारे शरीर को क्या-क्या फायदे होते हैं?

इन्हें भी पढ़ें – कोरोना वायरस के घरेलू एवं मेडिकल उपचार

हस्तमैथुन करने के फायदे — Benefits of Masturbation in Hindi

हस्तमैथुन एक प्राकृतिक शारीरिक क्रिया है जिसके बहुत से शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य लाभ हैं। जैसे:-

  • यौन उत्तेजना शांत करना
  • सेक्स संबंध को मजबूत बनाता है
  • सेक्स के दौरान शीघ्र स्खलन से राहत
  • मानसिक तनाव कम करता है
  • अच्छी नींद आती है
  • एकाग्रता बढ़ती है
  • शारीरिक पीड़ा कम करता है
  • सेक्स में सुधार होता है

इन्हे भी पढ़ें – विटामिन और उनके स्रोत की सूची

जब हमारे गुप्तांग उत्तेजित और यौन के चरम सुख को प्राप्त करने के लिए हम तैयार होते हैं तो उसे शांत करने के दो ही तरीके हैं या तो आप सेक्स करो या फिर हस्तमैथुन। यौन सुख प्राप्त करने के लिए हम अपने शरीर के गुप्तांगों को सक्रिय कर उसके साथ खेलते है ताकि हमें वो एहसास प्राप्त हो सके जिसके लिए हम लालायित होते हैं। अपने गुप्तांगों के साथ खेलने का आनंद ही हमे हस्तमैथुन करने के लिए प्रेरित करता है। हस्तमैथुन का एहसास जितना आनंददायक है उतना ही इसके लाभ भी हैं। आइये एक एक करके इसके लाभ पर प्रकाश डालते हैं।

  1. यौन उत्तेजना शांत करना

अगर आप अपने किसी साथी के साथ शारीरिक संबंध बनाते हैं तो उसके एहसास को हस्तमैथुन के एहसास के साथ तुलना करना संभव नहीं है। लेकिन, हाँ! आप अपनी यौन उत्तेजना को शांत करने के लिए हस्तमैथुन का सहारा ले सकते हैं। यौन उत्तेजना को शांत करने का सबसे सफल और स्वस्थ उपाय हस्तमैथुन है।

  1. आप सेक्स संबंध को मजबूत बना सकते हैं

सेक्स के दौरान कई जोड़ें एक दूसरे का हस्तमैथुन करते हैं जिसकी वजह से उनके बीच लगातार यौन सुख का माहौल बना रहता है। अगर आपका साथी आपके चरम सुख हासिल करने के पहले ही स्खलित हो जाता है तो हस्तमैथुन के जरिये आप अपने चरम सुख का आनंद ले सकते हैं।

  1. सेक्स के दौरान शीघ्र स्खलन से राहत

शारीरिक संबंध बनाने से पहले अगर आप हस्तमैथुन करते हैं तो सेक्स के दौरान आप अपने साथी के साथ लंबे समय तक लुफ़्त उठा सकते हैं। अगर आप अपने साथी के साथ लंबे समय तक सेक्स का आनंद उठाना चाहते हो तो सेक्स से पहले हस्तमैथुन करना आपके लिए लाभकारी हो सकता है।

  1. मानसिक तनाव कम करता है

हस्तमैथुन के दौरान आपका मस्तिष्क एक ही दिशा में सोचता है और इसी वजह से आप रिलैक्स अनुभव करते हैं। जब भी हम किसी भी रूप में सेक्स के बारे में सोचते हैं तो हमारा मस्तिष्क डोपामाइन (Dopamine) नामक रसायन छोड़ता है जो हमें खुशी का अनुभव दिलाता है। यानि जब जब आप सेक्स के बारे में सोचते हैं, आपका मन इसके प्रति सक्रिय हो जाता है और आपको एक अलग खुशी मिलती है। ठीक ऐसे ही जब आप सेक्स या हस्तमैथुन करते हैं तो मस्तिष्क एंडोर्फिन (Endorphins) नामक रसायन छोड़ता है जो हमें तनाव मुक्त करने में कारगर होता है।

अगर आप तनाव में है तो हस्तमैथुन आपके तनाव को काफी हद तक कम कर सकता है। लेकिन हाँ, अगर आप हमेशा तनाव में रहते हैं तो अपने तनाव को कम करने के लिए हमेशा हस्तमैथुन का सहारा लेना सही नहीं है। ऐसा करने से आपको इसकी लत लग सकती है और ये आपके शरीर में दूसरी एब्नार्मलिटी को जन्म दे सकता है।

  1. अच्छी नींद आती है

जहां एंडोर्फिन रसायन आपको मानसिक तनाव से निजात दिलाता है वहीं ये ब्लड प्रेशर को कम करके आपके शरीर को शिथिलता प्रदान करता है। जिसकी वजह से अच्छी नींद आती है। आप हस्तमैथुन के बाद अच्छी नींद का अनुभव जरूर करते होंगे।

  1. एकाग्रता बढ़ती है

हस्तमैथुन से तनाव तो कम होता ही है साथ ही मन को शांति का अनुभव भी होता है जो मस्तिष्क को एकाग्र करने के लिए लाभकारी है।

  1. शारीरिक पीड़ा कम करता है

शारीरिक पीड़ा से राहत दिलाने में हस्तमैथुन एक अच्छा विकल्प हो सकता है। हस्तमैथुन के दौरान हमारा मस्तिष्क सिर्फ कामुकता के सागर में घूमता रहता है और इसी वजह से हमें शारीरिक पीड़ा का अनुभव नहीं होता है।

  1. सेक्स में सुधार

जो व्यक्ति हस्तमैथुन करता है उसके गुप्तांग की संवेदना धीरे धीरे कम होती जाती है जिसकी वजह से चरम सुख पाने के लिए उसे काफी देर तक हस्तमैथुन करना पड़ता है। अगर वही व्यक्ति अपने साथी के साथ शारीरिक संबंध बनाए तो काफी देर तक काम-क्रिया में व्यस्त रह सकता है।
आपने यह तो जान लिया कि हस्तमैथुन के क्या क्या फायदे हो सकते हैं। चलिए, अब इसके नुकसान के बारे में जानते हैं।

हस्तमैथुन के नुकसान — Side effects of Masturbation in Hindi

वैसे तो कोई वैज्ञानिक तथ्य नहीं है जो इस बात का समर्थन करे कि हस्तमैथुन करने से शरीर को कोई नुकसान नहीं होता है। लेकिन हां, अगर आपको हस्तमैथुन करने की लत लग गई है और आप रोज़ाना हस्तमैथुन करके अपनी कामुक इच्छाओं को शांत करते हैं तो आपको ये ज़रूर जान लेना चाहिये कि इससे आपके शरीर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

जहां हस्तमैथुन आपके शरीर के लिए लाभकारी है वहीं अगर हस्तमैथुन नियमित रूप से किया जाए तो यह आपके शरीर का दुश्मन भी बन सकता है। हस्तमैथुन के निम्नलिखित नुकसान हैं।

  • यौन संवेदनशीलता में कमी होना
  • लिंग या योनि में सूजन
  • लिंग का टेढ़ा होना
  • खुद के प्रति ग्लानि होना
  • शरीर कमजोर होना
  • दैनिक जीवन में खलल पड़ना
  • हस्तमैथुन की लत लगना
  • शुक्राणु की संख्या पर असर पड़ना
  • पाचन संबंधित शिकायत होना

हर चीज की एक सीमा होती है। अगर आप सीमा पार कर आगे जाते हैं तो वह आपके लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है। हस्तमैथुन भी इसी का एक अच्छा उदाहरण है, अगर आप निर्धारित रूप से या कभी कभी हस्तमैथुन करते हैं तो इसकी वजह से आपके शरीर को कोई हानि नहीं पहुँचती है। लेकिन अगर यही अनियमित रूप से किया जाए तो इसका परिणाम आपके शरीर को भुगतना पड़ सकता है।

  1. यौन संवेदनशीलता में कमी होना

हस्तमैथुन के दौरान पुरुष अपने लिंग को पकड़ कर आगे पीछे करते हैं जिससे उनके लिंग पर बार बार घर्षण (Friction)होता है और उनकी संवेदनशीलता धीरे धीरे कम होने लगती है। ठीक इसी तरह जब महिलाएं हस्तमैथुन करती हैं तो वे अपनी उंगलियों से अपनी योनि के ऊपरी और अंदरूनी हिस्से को जोर जोर से मसलती हैं और अपनी योनि में उंगलियों डाल कर आगे पीछे करती है जिसके कारण उनकी योनि की अंदरूनी संवेदनशील मसल्स अपनी संवेदना धीरे धीरे खोने लगती है।

ज्यादा हस्तमैथुन आपके गुप्तांगों की संवेदना को कम करता है और यौन सुख प्राप्त करने की चरम सीमा समय को बढ़ाता है। जिसकी योनि संवेदनशील नहीं है उसे सेक्स के दौरान चरम सुख का अनुभव प्राप्त करने के लिए काफी समय लगता है।

  1. लिंग या योनि में सूजन होना

अत्यधिक हस्तमैथुन आपके लिंग/योनि में सूजन ला सकता है। हस्तमैथुन के दौरान हमारे गुप्तांगों में रक्त का दवाब अधिक होने के कारण वो सख्त़ हो जाते हैं और जब स्खलन के चरम सुख को पाने के लिए जोर जोर से अपने गुप्तांगों को मसलते हैं तो उसमे सूजन आ जाती है।

  1. लिंग का टेढ़ा होना

अगर आप हद से ज्यादा हस्तमैथुन करते हैं और वो भी अपने एक ही हाथ से तो आपका लिंग एक तरफ से टेढ़ा हो जाता है। क्योंकि आप हस्तमैथुन के दौरान अपने लिंग को एक दिशा प्रदान करते हैं जिसकी वजह से वो एक तरफ से मुड़ जाता है। आपका लिंग टेढ़ा न हो इसके लिए आपको हस्तमैथुन के दौरान बारी बारी से अपने दोनों हाथों का प्रयोग करना चाहिए।

  1. खुद के प्रति ग्लानि होना

कामोत्तेजना के चरम सुख को प्राप्त करने के लिए हमारा मन हमें हस्तमैथुन करने के लिए प्रेरित करता है। हस्तमैथुन जहां आपके शरीर को कामुक सुख प्रदान करता है वहीं अनियमित हस्तमैथुन के बाद थोड़ी ग्लानि भी महसूस होती है। अगर आप हमेशा हस्तमैथुन करते हैं तो इस प्रकार की मानसिकता स्वाभाविक है। असमय हस्तमैथुन करने से मानसिक रूप से हमें बुरा महसूस होता है।

  1. शरीर कमजोर होना

हस्तमैथुन करने से शरीर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। अगर आप असमय हस्तमैथुन करते हैं और आपका खान पान सही नहीं है तो आपका शरीर कमजोर हो सकता है। हस्तमैथुन करने के बाद हमारे शरीर से जो वीर्य बाहर निकलता है उसकी पूर्ति शरीर खुद करता है। लेकिन अगर आपका खान पान सही नहीं है तो वीर्य की पूर्ति कैसे होगी? वीर्य की पूर्ति के लिए आपका आहार सही होना चाहिए नहीं तो शरीर को कमजोर होते देर नहीं लगती।

  1. दैनिक जीवन में खलल डालता है

हर समय कामोत्तेजना के सागर में गोते लगाना आपको हस्तमैथुन करने के लिए प्रेरित करता है। अगर आप हर समय सेक्स, ब्लू फिल्में और एडल्ट मैगजीन पर ज्यादा ध्यान देते हैं तो इसकी वजह से पूरे दिन आपके मन में सेक्स और हस्तमैथुन का ख्याल ही रहता है जो आपके दूसरे काम पर बाधा डालता है।

  1. हस्तमैथुन की लत

सेक्स की इच्छा की पूर्ति करने के लिए जरूरी नहीं कि आपको एक साथी की जरूरत पड़े। आप हस्तमैथुन के जरिये भी अपनी शारीरिक भूख को शांत कर सकते हैं। लेकिन सेक्स से संबंधित सभी पहलुओं को अपने निजी जीवन में शामिल कर लेना सही नहीं है। जहां हस्तमैथुन आपके गुप्तांगों को सुख देने का काम करता है वहीं यह सुख आपके लिए एक लत बन सकता है। हस्तमैथुन की लत का यही मतलब है कि आप सेक्स के अलावा कुछ सोचते ही नहीं और आपका मन बस सेक्स पर ही केन्द्रित रहता है जिसकी वजह से आप अपने किसी भी कार्य को एकाग्र मन से नहीं कर पाते हैं।

  1. शुक्राणु की संख्या पर असर

हस्तमैथुन के सुख को प्राप्त करने के लिए हम अपने वीर्य को स्खलित करते हैं जिसकी पूर्ति शरीर कर लेता है। बार बार हस्तमैथुन करने से शरीर उसकी पूर्ति करता है लेकिन धीरे धीरे वीर्य की पूर्ति करने की काबिलीयत नष्ट हो जाती है। जिसकी वजह वीर्य में मौजूद शुक्राणुओं की संख्या पर इसका बुरा असर पड़ता है।

  1. पाचन संबंधित शिकायत

भोजन के तुरंत बाद हस्तमैथुन आपके पाचन क्रिया में बाधा डाल सकता है। अगर आपने अभी अभी खूब सारा भोजन किया है और भोजन करने के तुरंत बाद हस्तमैथुन करने लग गए तो आपका शरीर भोजन को पचाने के बजाय आपके यौन सुख को पूरा करने में लग जाता है। जिसकी वजह से आपकी पाचन क्रिया प्रभावित होती है। इसलिए भोजन के तुरंत बाद हस्तमैथुन करना सही नहीं है।

हस्तमैथुन कितनी मात्रा में करें 

इस प्रश्न का उत्तर इस बात पर निर्भर करता है कि आपकी हेल्थ कैसी है। कई लोग हर रोज हस्तमैथुन करते हैं और कई लोग हफ्ते में एक बार ही करते हैं। इसलिए आप अपने समय और स्वास्थ्य का ख्याल रखते हुए ही हस्तमैथुन करें। देखा जाए तो हफ्ते में एक या दो बार हस्तमैथुन करना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है और शरीर इसका इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है।

उम्मीद करते हैं की हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान ब्लॉग को पढ़ने के बाद आप हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान (Pros and Cons of Masturbation Hindi Me) से जुड़ी सभी जरुरी बातें जान गए होंगे।

आरआरबी एनटीपीसी सैलरी और जॉब प्रोफाइल 2020 – RRB NTPC Salary Details in Hindi!



आरआरबी एनटीपीसी सैलरी स्ट्रक्चर, नौकरी विवरण और कैरियर संभावनाएं

RRB NTPC वेतन (RRB NTPC Salary Details Hindi Me) और नौकरी विवरण के विवरण में शामिल होने से पहले, हमें परीक्षा का अवलोकन करना चाहिए:

इन्हे भी पढ़ें – इंडियन पैरा कमांडो कैसे बनें

परीक्षा का आयोजनकर्ता रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी)
नौकरी का प्रकार सरकारी नौकरी (केंद्र सरकार)
नौकरी श्रेणी गैर-तकनीकी लोकप्रिय श्रेणी (एनटीपीसी)
रिक्तियां 35,000+
कार्य स्थान पूरे भारत में
आवेदन का तरीका ऑनलाइन
परीक्षा के चरण पोस्ट से पोस्ट बदलता है
ऑनलाइन पंजीकरण की प्रारंभिक तिथि 1 मार्च 2019
ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 मार्च 2019
आधिकारिक वेबसाइट www.indianrailways.gov.in

आरआरबी एनटीपीसी सैलरी और जॉब प्रोफाइल: आरआरबी एनटीपीसी पोस्ट

आरआरबी एनटीपीसी 2019-2020 अधिसूचना के अनुसार, सभी एनटीपीसी पदों को दो प्रकारों में वर्गीकृत किया गया है, अर्थात् ग्रेजुएट पोस्ट और अंडरग्रेजुएट पोस्ट। आइए अब प्रत्येक श्रेणी के तहत पदों के नाम और उनके प्रारंभिक वेतन (प्रारंभिक सीपीसीबी एनटीपीसी के 7 वें सीपीसी के अनुसार वेतन) देखें: इन्हे भी पढ़ें – भारत के कैबिनेट मिनिस्टर्स की अपडेटेड लिस्ट!

आरआरबी एनटीपीसी ग्रेजुएट पोस्ट सैलरी

  1. रेलवे ट्रैफिक सहायक सैलरी : 25,000 रुपये
  2. रेलवे गुड्स गार्ड सैलरी : 29,200 रुपये
  3. रेलवे सीनियर कमर्शियल कम टिकट क्लर्क सैलरी : 29,200 रुपये
  4. रेलवे सीनियर क्लर्क सह टाइपिस्ट सैलरी : 29,200 रुपये
  5. जूनियर खाता सहायक सह टाइपिस्ट सैलरी : 29,200 रुपये
  6. सीनियर टाइम कीपर सैलरी : 29,200 रुपये
  7. वाणिज्यिक अपरेंटिस वेतन : 35,400 रुपये
  8. रेलवे स्टेशन मास्टर वेतन: 35,400 रुपये

आरआरबी एनटीपीसी अंडर ग्रेजुएट की सैलरी

  1. जूनियर क्लर्क सह टाइपिस्ट वेतन: 19,900 रुपये
  2. लेखा लिपिक सह टाइपिस्ट वेतन: 19,900 रुपये
  3. जूनियर टाइम कीपर वेतन: 19,900 रुपये
  4. ट्रेन क्लर्क वेतन: 19,900 रुपये
  5. कमर्शियल कम टिकट क्लर्क वेतन: 21,700 रुपये

इन्हे भी पढ़ें – मास कम्युनिकेशन में करियर ऑप्शन

आरआरबी एनटीपीसी वेतन संरचना: आरआरबी एनटीपीसी भत्ते

सभी आरआरबी एनटीपीसी ग्रेजुएट और अंडरग्रेजुएट पद विभिन्न भत्तों के हकदार हैं:

1 महंगाई भत्ता (DA)
2 परिवहन भत्ता (टीए)
3 मकान किराया भत्ता (HRA)
4 पेंशन योजना
5 चिकित्सा लाभ

आरआरबी एनटीपीसी वेतन: RRB NTPC पद-वार नौकरी प्रोफाइल

विभिन्न पदों के लिए आरआरबी एनटीपीसी नौकरी विवरण निम्नानुसार हैं:

आरआरबी एनटीपीसी पोस्ट आरआरबी एनटीपीसी जॉब प्रोफाइल
यातायात सहायक 1 यातायात और सिग्नल का ध्यान रखना
2 अलग-अलग शिफ्ट में काम करना
गुड्स गार्ड 1 काम का कोई निश्चित समय नहीं
2 वाहन के कामकाज की निगरानी के लिए
3 ट्रेन में जाँच करने के लिए
4 ट्रेन चलते समय मामूली मुद्दों की पहचान और पता करने के लिए
5 ब्रेक निरंतरता सुनिश्चित करने के लिए,
6 स्टेशन मास्टर के साथ काम करता है और ट्रेनों के आगमन और प्रस्थान आदि के बारे में जानकारी देता है।
वरिष्ठ वाणिज्यिक सह टिकट क्लर्क 1 टिकट बुकिंग कार्यालयों में काम करना
2 वाणिज्यिक जाँच और टिकट जारी करने के लिए जिम्मेदार
3 सामान बुक करने के लिए
वरिष्ठ क्लर्क सह टाइपिस्ट 1 विभिन्न विभागों में लिपिक कार्यों के लिए जिम्मेदार
2 कनिष्ठ लिपिकों का पर्यवेक्षण करता है
जूनियर खाता सहायक सह टाइपिस्ट 1 खातों की देखभाल करता है
2 लेन-देन, व्यय, दावा निपटान, आदि का ट्रैक रखता है।
3 खातों से संबंधित रिपोर्ट बनाता है
4 नियमानुसार बजट का प्रबंधन और संकलन करता है
5 वित्तीय अनियमितताओं की जाँच करता है
6 लेखा विभाग में प्रशासनिक कार्यों से संबंधित सहायता प्रदान करता है
सीनियर टाइम कीपर 1 पूरे रेलवे नेटवर्क के साथ काम करता है
2 ट्रेन की चाल के संबंध में समय का रिकॉर्ड रखता है
3 विभिन्न शिफ्ट में काम करता है
वाणिज्यिक अपरेंटिस  1 विभिन्न वाणिज्यिक शाखाओं में बहु-कुशल पर्यवेक्षक
2 वाणिज्यिक पर्यवेक्षक / माल पर्यवेक्षक / वाणिज्यिक निरीक्षक / पार्सल पर्यवेक्षक के रूप में पोस्ट किया गया
स्टेशन मास्टर 1 रेल स्टेशन में गतिविधियों का पर्यवेक्षण करता है
2 थाना प्रभारी
3 गाड़ियों के सुचारू और समय पर आगमन और प्रस्थान सुनिश्चित करने के लिए जिम्मेदार
4 यात्रियों को किसी भी समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है
कनिष्ठ लिपिक सह टाइपिस्ट 1 वरिष्ठ लिपिकों की सहायता करता है
2 डेटा प्रविष्टि के लिए जिम्मेदार
लेखा लिपिक सह टाइपिस्ट 1 वरिष्ठ लिपिकों की सहायता करता है
2 डेटा प्रविष्टि के लिए जिम्मेदार
3 खातों और वित्त टीम में काम करता है
4 विभिन्न लेन-देन पर नज़र रखता है
5 विभाग में डेटा प्रविष्टि और अन्य संबद्ध कार्यों के लिए जिम्मेदार
6 प्रशासनिक गतिविधियों में मदद करता है
जूनियर टाइम कीपर 1 ट्रेनों के आगमन / प्रस्थान के रिकॉर्ड को बनाए रखने में वरिष्ठ समय रक्षक की सहायता करता है
2 विभिन्न शिफ्टों में काम करता है
ट्रेन क्लर्क 1 ट्रेनों और उनकी स्थितियों से संबंधित सामान्य रिकॉर्ड बनाए रखना
2 ट्रेनों में कोच की संख्या पर नज़र रखने के लिए जिम्मेदार
वाणिज्यिक सह टिकट क्लर्क 1 सीआरएस और यूटीएस के माध्यम से टिकट जारी करने के लिए जिम्मेदार
2 सामान से संबंधित रिकॉर्ड रखना



आरआरबी एनटीपीसी वेतन: आरआरबी एनटीपीसी में कैरियर के अवसर

RRB NTPC नौकरियों में पदोन्नति और कैरियर के अवसर नीचे दिए गए हैं:

आरआरबी एनटीपीसी पोस्ट आरआरबी एनटीपीसी कैरियर पथ
यातायात सहायक 1. वरिष्ठ यातायात सहायक
गुड्स गार्ड 1. एक्सप्रेस गार्ड
2. अनुभाग नियंत्रक
3. मुख्य नियंत्रक
वरिष्ठ क्लर्क सह टाइपिस्ट 1. मुख्य ट्रेन क्लर्क
2. गुड्स गार्ड
3. सहायक स्टेशन मास्टर
जूनियर अकाउंट असिस्टेंट कम टाइपिस्ट 1. लेखा सहायक
2. कनिष्ठ लेखा अधिकारी
3. वरिष्ठ लेखा अधिकारी
4. उप मुख्य लेखा अधिकारी
5. अतिरिक्त वित्त सलाहकार
6. मुख्य लेखा अधिकारी
7. वित्तीय सलाहकार
वरिष्ठ टाइम कीपर 1. वरिष्ठ टाइम कीपर ग्रेड II
2. सीनियर टाइम कीपर ग्रेड I
वाणिज्यिक अपरेंटिस 1. सहायक वाणिज्यिक प्रबंधक
2. डिविजनल कमर्शियल मैनेजर
3. वरिष्ठ मंडल वाणिज्यिक प्रबंधक
स्टेशन मास्टर 1. स्टेशन अधीक्षक
2. सहायक संचालन प्रबंधक
3. संभागीय संचालन प्रबंधक
जूनियर क्लर्क सह टाइपिस्ट 1. वरिष्ठ क्लर्क सह टाइपिस्ट
जूनियर टाइम कीपर 1. वरिष्ठ टाइम कीपर ग्रेड II
2. सीनियर टाइम कीपर ग्रेड I
ट्रेन क्लर्क 1. वरिष्ठ ट्रेन क्लर्क
2. मुख्य ट्रेन क्लर्क
कमर्शियल कम टिकट क्लर्क 1. वरिष्ठ वाणिज्यिक सह टिकट क्लर्क
2. मुख्य वाणिज्यिक सह टिकट क्लर्क
3. डिप्टी स्टेशन मास्टर

जैसा कि आप देख सकते हैं, सभ्य आरआरबी एनटीपीसी वेतन के अलावा, आरआरबी एनटीपीसी कर्मचारियों के पास ग्रोथ के बहुत सारे अवसर हैं। इसलिए, उम्मीदवारों को यह नौकरी पाने के लिए गंभीरता से तैयारी करनी चाहिए। पूरे आरआरबी एनटीपीसी पाठ्यक्रम को सबसे प्रभावी तरीके से तैयार करें और आरआरबी एनटीपीसी मॉक टेस्ट लें। अपनी गलतियों से सीखें ताकि आप उन्हें वास्तविक परीक्षा में न दोहराएं। आप निश्चित रूप से अच्छा करेंगे।

हमें उम्मीद है कि आरआरबी एनटीपीसी वेतन, नौकरी प्रोफ़ाइल और कैरियर के अवसरों पर यह विस्तृत लेख आपकी मदद करेगा। यदि आपके पास RRB NTPC वेतन या सामान्य रूप से परीक्षा के बारे में कोई प्रश्न है, तो कमेंट करना न भूलें।


यदि आप भी अपनी बेरुखी त्वचा से परेशान हैं, तो यहाँ स्किन में ग्लो लाने के घरेलू उपाय पढ़ें!



आज की भागदौड़ भरी लाइफ में हर महिला काम के साथ अपने आप को भी सुंदर दिखने की कोशिश में रहती है पर सही उपाय न मिलने पर मार्केट के केमिकल युक्त प्रोडक्ट का इस्तेमाल कर अपनी त्वचा को और भी निराशा रूखी और बैजान बना लेती हैं, जबकि हमारे किचन में ही कुछ ऐसी अत्यंत मूल्यवान वस्तु हैं जिनके प्रयोग से हम अपने चेहरे की खूबसूरती को तरोताजा बना सकते हैं, तो चलिये इस लेख को पढ़ते हैं और जानते हैं स्किन में ग्लो लाने के घरेलू उपाय और जानते हैं, कि आखिर चेहरे पर निखार और चमक कैसे लायें (How to bring face shine in Hindi)। इन्हें भी पढ़ें – कोरोना वायरस के घरेलू एवं मेडिकल उपचार

स्किन में ग्लो लाने के घरेलू उपाय (Home remedies to brighten skin in Hindi)

वैसे तो आप ऊपर दी गई जानकारी से यह जान चुके होंगे, कि हम इस लेख के जरिये घर में स्किन को ग्लो करने के लिए टिप्स बताएँगे और जानेंगे कि किस तरह से हम घरेलू नुस्खों से अपनी स्किन में निखार पा सकेंगे, तो चलिये आगे बढ़ते हैं और चेहरे पर निखार लाने के घरेलू उपाय और टिप्स (Home remedies to bring glow on face in Hindi)के बारें में जानते हैं। इन्हे भी पढ़ें – विटामिन और उनके स्रोत की सूची

चेहरे पर गोरापन लाने का उपाय है दूध की मलाई – (Rubbing milk is a solution to bring blondness to the face in Hindi)

दूध की मलाई को रोजाना रात को सोते समय अच्छी तरह से लेप करके सोयें सुबह उठकर ठंडे पानी से चेहरे को धोएँ और कुछ समय के लिए वैसे ही छोड़ दें ,यह क्रिया कम से कम 2 सप्ताह तक जरूर करें इससे आपको असर खुद ही दिखने लगेगा और फेस पर भी एक अलग ही चमक दमकेगी और सिर्फ 2 सप्ताह में चेहरे पर निखार पा सकेंगे। इन्हें भी पढ़े – पिंपल से छुटकारा पाने के घरेलु नुस्खे

चेहरे पर निखार लाने का घरेलू उपाय है हल्दी और टमाटर – (Turmeric and tomato are the home remedy to Glow the face in Hindi)

सप्ताह में 2 से 3 बार आप हल्दी और टमाटर का उपयोग करें टमाटर के दो हिस्से कर लें और उसमें हल्दी लगा लें इसे अपने फेस पर करीब 10 मिनट तक रगड़े इससे आपकी स्किन जानदार हो जाएगी और चेहरे की झाइयाँ भी खत्म हो जाएगी यह चेहरे की झाइयों को दूर करने का बहुत ही बेजोड़ उपाय है ,अतः इसका कोई साइडिफ़ेक्ट भी नहीं होगा । इन्हें भी पढ़े – वजन घटाने के घरेलू उपाय

स्किन में ग्लो लाये बेसन,हल्दी और दूध के मिश्रण से – (Glow in the skin with a mixture of gram flour, turmeric and milk in Hindi)

हल्दी ,बेसन ,दूध इन तीनों का पेस्ट बनाकर सप्ताह में 1 बार चेहरे पर लगाएँ जिसे हमारी भारतीय भाषा में उबटन भी कहते हैं यह भी बेजान त्वचा को जानदार बनाने में बहुत ही गुणकारी है।

चेहरे पर चमक लाता है कच्चे आलू का मिश्रण – (Raw potato mixture brings shine to face in Hindi)

आलू हर घर में आसानी से मिल जाता है कच्चे आलू के गोल -गोल पीस करके आँखों के ऊपर रखने से आँखों के नीचे के काले घेरे समाप्त हो जाते हैं यह उपाय आपको दिन में एक बार रोज करना है ,इसका परिणाम भी प्राय; लोंगों को संतुष्टिजनक मिला है।


फ़ेस ग्लो टिप्स में करें शहद ,सेव ,मसूर की दाल और दूध पाउडर का उपयोग – (face glow tips in Hindi)

मात्र एक चम्मच शहद ,एक टुकड़ा सेव फल ,दो चाय चम्मच मसूर की दाल पिसी हुई, एक चम्मच दूध पाउडर ,इन सभी को अच्छी तरह से फेंट लें और इसे अपने चेहरे ,गर्दन पर लेप कर के 10 मिनट के लिए छोड़ दें सूखने पर ठंडे पानी से चेहरा धोएँ इससे आपके चेहरे की कांति और भी अधिक निखर जाएगी इससे स्किन टाइट होती है और एक उम्र में होने वाले दाग से भी छुटकारा मिलता है ,यह उपाय आपको सप्ताह में 1 बार ही करना है । इन्हें भी पढ़े – सर्दियों में स्वस्थ और फिट रहने के टिप्स

स्किन में ग्लो लाने के घरेलू उपाय (Home remedies to brighten skin Hindi Me) – अन्य प्रयोग

वैसे तो हमने ऊपर स्किन में निखार लाने के सभी घरेलू उपायों को बता दिया है पर आप नीचे दिये गए कुछ अन्य प्रयोगों से भी अपनी त्वचा में निखार ला सकते हैं।

  • खाने में हो सके रोज दही का सेवन करें।
  • पानी खूब पिये भोजन में सलाद का उपयोग करें।
  • जितना हो सके जंक फूड से बचें यदि इतना नियम नहीं कर पा रहें हैं तो केवल इतना अपनी आदत में लाएँ ,आप जब सुबह सो कर जागते हैं तो उठ कर खाली पेट 2 ग्लास गुनगुना पानी पिये।
  • दोपहर में खाने के साथ एक कटोरी दही लें।
  • रात में सोते समय 1 ग्लास हल्दी वाला दूध पियें

हमें उम्मीद है स्किन में ग्लो लाने के घरेलू उपाय ने आपको अपनी त्वचा में निखार लाने के लिए सहायता कीहोगी। बस इतनी सी अपनी दिनचर्या अपने स्वभाव में लाएँ फिर देखें चमत्कार न ही आप कभी बीमार होंगे और न ही आपको कभी वात ,पित्त ,कफ जैसी समस्या से जूझना पड़ेगा और न ही कोई त्वचा संबन्धित परेशानी का सामना करना पड़ेगा और आप 40 की उम्र में भी 25 साल की उम्र वाला दमकता चेहरा पा सकेंगे और सदा के लिए युवा की तरह ही चमकती रहेंगी यह सारे घरेलू उपाय हर महिलाओं के लिए बहुत कारगर हैं हर महिलाएं अपने ऊपर कई फेसियल ,इत्यादि किट ट्राई करती रहती हैं जबकि इनका असर कुछ दिनों मे चला जाता है और बाद में हमारे ऊपर इसका नेगेटिव असर होता है, हम यदि चाहें तो सबसे कम खर्च और कम समय में अपनी कुछ आदतों में सुधार कर सबसे बेहतर बन सकती हैं।


%d bloggers like this: