भारत की विभिन्न बैंकों के फिक्स्ड डिपॉजिट इंटरेस्ट रेट्स 2022!



फिक्स्ड डिपॉजिट एक सुरक्षित निवेश विकल्प है जो आयकर कटौती के साथ निरंतर ब्याज दरों, वरिष्ठ नागरिकों के लिए विशेष ब्याज दरों, विभिन्न ब्याज भुगतान विकल्पों और बाजार से संबंधित जोखिमों के बिना पेश किया जाता है। नई फिक्स्ड डिपॉजिट करें या मौजूदा का नवीनीकरण करने से पहले देश के अग्रणी बैंकों के बीच नवीनतम फिक्स्ड डिपाजिट इंटरेस्ट रेट्स की तुलना करना महत्वपूर्ण है। इसलिए आज हम इस लेख में भारत की विभिन्न बैंकों के फिक्स्ड डिपाजिट इंटरेस्ट रेट्स के बारे में चर्चा करेंगे।

बैंकों में फिक्स्ड डिपॉजिट के जरिये इन्वेस्टमेंट सबसे सुरक्षित निवेश विकल्पों में से एक माना जाता है। जिसमें निवेशक या फिक्स्ड डिपॉजिट करने वाला व्यक्ति निश्चित ब्याज दर पर एक विशिष्ट अवधि के लिए बैंक के पास एकमुश्त राशि जमा करता है। बैंक राशि पर ब्याज को कंपाउंड करता है। बैंक FD के मैच्योर होने के बाद निवेशक को उसकी राशि ब्याज के साथ मिलती है। भारत में अलग-अलग बैंक अलग-अलग ब्याज दरों (इंटरेस्ट रेट्स) की देते हैं।

यहाँ पढ़ें – भारत के बेस्ट सेविंग प्लान कौन-कौन से हैं?

फिक्स्ड डिपॉजिट क्या है ?

फिक्स्ड डिपॉजिट या FD बैंकों और नॉन-बैंकिंग फाइनेंस कम्पनीज (NBFC) द्वारा पेश किया जाने वाला एक इन्वेस्टमेंट प्लान है। फिक्स्ड डिपाजिट में, आप एक निश्चित समय के लिए निवेश कर सकते हैं, जिसमें एक निश्चित ब्याज़ दर से राशि प्राप्त होती है। यह एक ऐसा प्लान है जहाँ आप निवेश करते समय जानते हैं कि आपको मचुरिटी के समय कितनी ब्याज दर मिलेगी और आपको कितना पैसा मिलेगा। इसमें आपको ब्याज के नियमित भुगतान का चयन करने का विकल्प भी मिलता है।

फिक्स्ड डिपॉजिट के लाभ

  • सुनिश्चित रिटर्न – फिक्स्ड डिपाजिट में इस बात का कोई फर्क नहीं पड़ता कि ब्याज दरें कैसे चलती हैं या अर्थव्यवस्था कैसे चल रही है, आपको निवेश के समय निश्चित रिटर्न मिलेगा।
  • मचुरिटी की राशि और ब्याज – कार्यकाल के अंत में, आपको संचित ब्याज के साथ आपके द्वारा लगाई गई राशि वापस मिल जाती है।
  • चक्रवृद्धि ब्याज के साथ तेज वृद्धि – आप ब्याज राशि पर भी ब्याज कमाते हैं। इससे आपको बड़ी राशि आसानी से जमा करने में मदद मिलती है।
  • वरिष्ठ नागरिकों के लिए हाई इंटरेस्ट रेट्स – फिक्स्ड डिपॉजिट में वरिष्ठ नागरिकों के लिए हाई इंटरेस्ट रेट्स प्रदान किया जाता है।

फिक्स्ड डिपाजिट (FD) कैसे काम करती है?

फिक्स्ड डिपॉजिट (FD) बैंक में एक निश्चित अवधि के लिए इन्वेस्टर्स द्वारा जमा की गई एक विशिष्ट राशि को लॉक कर देता है। सामान्य तौर पर, बैंक जमाकर्ताओं को कम से कम 7 दिनों से लेकर 10 साल तक की अवधि के लिए अपने फंड को निवेश करने के ऑफर प्रदान करते हैं। कार्यकाल का चुनाव उस इन्वेस्टर्स पर निर्भर करता है जो एफडी खाता खोल रहा है। जमा पर ब्याज दर उस अवधि पर निर्भर करती है जिसके लिए बैंक के पास एकमुश्त राशि रखी जाती है।

आमतौर पर बैंक जमाकर्ताओं को नियत तारीख से पहले पैसे निकालने की अनुमति नहीं देते हैं। परन्तु कुछ बैंक समय से पहले निकासी की सुविधा प्रदान करते हैं, हालांकि इसमें बैंक कम ब्याज दर देते हैं।

एक बार जब फिक्स्ड डिपाजिट (FD) की अवधि पूरी हो जाती है, तो बैंक जमाकर्ता के बैंक खाते में मूलधन और ब्याज जमा कर देता है। चूंकि ब्याज दर और जमा अवधि निश्चित होती हैं। बैंक जमा प्रकार को फिक्स्ड डिपाजिट (FD) के रूप में संदर्भित करते हैं।

जानें यूलिप क्या है और यूलिप में कैसे इन्वेस्ट करें

विभिन्न प्रकार के फिक्स्ड डिपाजिट इन्वेस्टमेंट

फिक्स्ड डिपाजिट (FD) के विभिन्न प्रकार हैं:

    • सामान्य फिक्स्ड डिपाजिट (FD): यह FD एक विशिष्ट, निश्चित अवधि के लिए 7 दिनों से लेकर 10 वर्षों तक के लिए धन जमा करता है। इस प्रकार के FD लिए ब्याज दर सामान्य बचत खाते से अधिक होती है।
    • टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपॉजिट: यह FD केवल एकमुश्त जमा की अनुमति देता है और 1.5 लाख रुपये तक की मूल जमा राशि पर इनकम टैक्स की छूट देता है। इसमें 5 साल का लॉक-इन पीरियड होता है।
    • सीनियर सिटीजन फिक्स्ड डिपॉजिट: इस प्रकार की FD 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के लिए लागू होती है जो विशेष ब्याज दरों और लचीली अवधि का आनंद ले सकते हैं।
    • संचयी फिक्स्ड डिपॉजिट: इस प्रकार की FD में प्रत्येक तिमाही या वर्ष में चक्रवृद्धि ब्याज देता है और फिक्स्ड डिपॉजिट की अंतिम तिथि के समय भुगतान करता है।
    • गैर-संचयी फिक्स्ड डिपॉजिट: इस प्रकार की FD के तहत, जमाकर्ता की पसंद के अनुसार, मासिक, त्रैमासिक, अर्ध-वार्षिक या वार्षिक रूप से ब्याज का भुगतान किया जाता है।
    • फ्लेक्सी फिक्स्ड डिपॉजिट: इस प्रकार की FD में, फिक्स्ड डिपॉजिट निवेशक के बैंक खाते से जुडी होती है।
    • NRI फिक्स्ड डिपॉजिट: इस FD टाइप में विदेश में रहने वाले भारतीय फिक्स्ड डिपॉजिट में निवेश कर सकते हैं। नॉन-रेजिडेंट आर्डिनरी (एनआरओ) खातों के माध्यम से इंडिया में फिक्स्ड डिपॉजिट में निवेश किया जा सकता है।



भारत की टॉप 10 बैंकों की फिक्स्ड डिपाजिट इंटरेस्ट रेट्स

7 दिनों से लेकर 10 साल तक के कार्यकाल के लिए भारत की टॉप बैंकों द्वारा दी जाने वाली नवीनतम ब्याज दरें नीचे दी गई हैं।

बैंक का नाम  सामान्य नागरिकों के लिए (प्रति वर्ष)  वरिष्ठ नागरिकों के लिए (प्रति वर्ष)
भारतीय स्टेट बैंक फिक्स्ड डिपाजिट 2.90% to 5.50% 3.40% to 6.30%
एचडीएफसी बैंक फिक्स्ड डिपाजिट 2.50% to 5.60% 3.00% to 6.35%
आईडीबीआई बैंक फिक्स्ड डिपाजिट 2.70% to 5.60% 3.20% to 6.35%
पंजाब नेशनल बैंक फिक्स्ड डिपाजिट 3.00% to 5.25% 3.50% to 5.75%
केनरा बैंक फिक्स्ड डिपाजिट 2.90% to 5.75% 2.90% to 6.25%
एक्सिस बैंक फिक्स्ड डिपाजिट 2.50% to 5.75% 2.50% to 6.50%
बैंक ऑफ बड़ौदा फिक्स्ड डिपाजिट 2.80% to 5.35% 3.30% to 6.35%
आईडीएफसी बैंक फिक्स्ड डिपाजिट 2.50% to 6.25% 3.00% to 6.75%
बैंक ऑफ इंडिया फिक्स्ड डिपाजिट 2.85% to 5.20% 3.35% to 5.95%
पंजाब एंड सिंध बैंक फिक्स्ड डिपाजिट 3.00% to 5.40% 3.50% to 5.90%

टॉप 10 टैक्स सेवर फिक्स्ड डिपाजिट इंटरेस्ट रेट्स

टैक्स-सेवर FD, इनकम टैक्स एक्ट की धारा 80C के तहत 1.5 लाख रुपये की अधिकतम कटौती की पेशकश करते हैं, जिसमें अधिकतम जमा राशि 1.5 लाख रुपये है। लॉक-इन अवधि 5 वर्ष है। वरिष्ठ नागरिकों को 0.50% अतिरिक्त ब्याज दर की पेशकश की जाती है।

टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपाजिट का नाम सामान्य नागरिकों के लिए (प्रति वर्ष) वरिष्ठ नागरिकों के लिए (प्रति वर्ष)
एसबीआई बैंक टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपाजिट 5.30% 5.80%
इंडसइंड बैंक टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपाजिट 6.50% 7.00%
एचडीएफसी बैंक टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपाजिट 5.45% 5.95%
केनरा बैंक टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपाजिट 5.75% 6.25%
एक्सिस बैंक टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपाजिट 5.75% 6.50%
बैंक ऑफ बड़ौदा टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपाजिट 5.35% 6.00%
आईडीएफसी बैंक टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपाजिट 6.25% 6.75%
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपाजिट 5.40% 5.90%
पीएनबी टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपाजिट 5.25% 5.75%
पंजाब एंड सिंध बैंक टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपाजिट 5.40% 6.40%
आईडीबीआई बैंक टैक्स सेविंग फिक्स्ड डिपाजिट 5.60% 6.35%

टॉप नॉन-बैंकिंग फाइनेंसियल कम्पनीज फिक्स्ड डिपाजिट इंटरेस्ट रेट्स 

नॉन-बैंकिंग फाइनेंसियल कम्पनीज भी अपने फिक्स्ड डिपाजिट एकाउंट्स पर अच्छे ब्याज दरों की पेशकश करती हैं। जून 2022 से प्रभावी 2 करोड़ रुपये से कम जमा के लिए 1 वर्ष से 5 वर्ष तक के कार्यकाल के लिए उच्चतम ब्याज दरें यहाँ दी गई हैं।

बैंक का नाम कार्यकाल सामान्य नागरिकों के लिए वरिष्ठ नागरिकों के लिए 
एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस एफडी 12 महीने से 60 महीने 5.15% से 6.00% 5.40% से 6.25%
पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस एफडी 12 महीने से 120 महीने 5.75% से 6.85% 6.00% से 7.10%
श्रीराम सिटी यूनियन फाइनेंस एफडी 12 महीने से 60 महीने 7.75% 8.05% तक



1 साल के लिए हाईएस्ट फिक्स्ड डिपाजिट इंटरेस्ट रेट्स 

यहाँ भारत की टॉप बैंकों द्वारा 1 साल की फिक्स्ड डिपाजिट के लिए दी जाने वाली हाईएस्ट फिक्स्ड डिपाजिट इंटरेस्ट रेट्स दिए गए हैं:

बैंक का नाम सामान्य नागरिकों के लिए वरिष्ठ नागरिकों के लिए
IDFC फ़र्स्ट बैंक 5.75% 6.25%
बैंक ऑफ़ इंडिया 5.00% 5.25%
आईडीबीआई बैंक 5.15% 5.65%
पंजाब नेशनल बैंक 5.10% 5.60%
केनरा बैंक 5.30% 5.80%
भारतीय स्टेट बैंक 5.10% 5.60%
पंजाब एंड सिंध बैंक 5.15% 5.65%

2 साल के लिए हाईएस्ट फिक्स्ड डिपाजिट इंटरेस्ट रेट्स 

यहाँ भारत की टॉप बैंकों द्वारा 2 साल की फिक्स्ड डिपाजिट के लिए दी जाने वाली हाईएस्ट फिक्स्ड डिपाजिट इंटरेस्ट रेट्स दिए गए हैं:

बैंक का नाम सामान्य नागरिकों के लिए वरिष्ठ नागरिकों के लिए
IDFC फ़र्स्ट बैंक 5.75% 6.25%
आईडीबीआई बैंक 5.25% 6.00%
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया 5.10% 5.60%
केनरा बैंक 5.45% 5.95%

3 साल के लिए हाईएस्ट फिक्स्ड डिपाजिट इंटरेस्ट रेट्स 

यहाँ भारत की टॉप बैंकों द्वारा 3 साल की फिक्स्ड डिपाजिट के लिए दी जाने वाली हाईएस्ट फिक्स्ड डिपाजिट इंटरेस्ट रेट्स दिए गए हैं:

बैंक का नाम  सामान्य नागरिकों के लिए वरिष्ठ नागरिकों के लिए 
आईडीएफसी फर्स्ट बैंक 6.00% 6.50%
एक्सिस बैंक 5.40% 5.90%
आईडीबीआई बैंक 5.50% 6.25%
भारतीय स्टेट बैंक 5.45% 5.95%
पंजाब और सिंध बैंक 5.40% 5.90%

5 साल के लिए हाईएस्ट फिक्स्ड डिपाजिट इंटरेस्ट रेट्स 

यहाँ भारत की टॉप बैंकों द्वारा 5 साल की फिक्स्ड डिपाजिट के लिए दी जाने वाली हाईएस्ट फिक्स्ड डिपाजिट इंटरेस्ट रेट्स दिए गए हैं:

बैंक का नाम सामान्य नागरिकों के लिए वरिष्ठ नागरिकों के लिए
आईडीएफसी फर्स्ट बैंक 6.25% 6.75%
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया 5.40% 5.90%
आईडीबीआई बैंक 5.60% 5.35%
केनरा बैंक 5.75% 6.25%
एक्सिस बैंक 5.75% 6.50%
भारतीय स्टेट बैंक 5.50% 6.30%

फ्लेक्सी फिक्स्ड डिपाजिट/ऑटो-स्वीप फैसिलिटी

यहाँ भारत की टॉप बैंकों द्वारा फ्लेक्सी फिक्स्ड डिपाजिट/ऑटो-स्वीप फैसिलिटी के लिए दी जाने वाली हाईएस्ट फिक्स्ड डिपाजिट इंटरेस्ट रेट्स दिए गए हैं:

बैंक कार्यकाल सामान्य नागरिकों के लिए वरिष्ठ नागरिकों के लिए
भारतीय स्टेट बैंक 5 साल से 7 साल 5.50% 6.30%
एक्सिस बैंक 6 महीने से 5 साल 4.40% से 5.40% 4.60% से 6.50%

हमें उम्मीद है, कि इस लेख के माध्यम से आप यह तो जान ही चुके होंगे की फिक्स्ड डिपाजिट क्या है और इसके किस बैंक में फिक्स्ड डिपाजिट इंटरेस्ट रेट्स सबसे अधिक हैं। यदि आपको इस लेख से सम्बंधित कोई प्रश्न है या फिर आप किसी अन्य तरह के लेखों को पढ़ने की इच्छा रखते हैं, तो हमें कमेंट सेक्शन में बताएं और इस लेख को ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें जिससे अन्य लोग भी इस लेख के माध्यम से लाभ ले सकें।