हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान — Pros and Cons of Masturbation in Hindi

हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान - Knowledgeadda247

हस्तमैथुन एक ऐसा विषय है जिसके बारे में कोई खुल के बात नहीं करता है और यही कारण हमारे दिमाग में शंका का बीज बो देती है। यौन सुख को प्राप्त करने के लिए जब आप अपने गुप्तांगों को उत्तेजित करते हैं तो इसे हस्तमैथुन कहा जाता है। हस्तमैथुन करना यौन सुख को प्राप्त करने और अपनी कामोत्तेजना को शांत करने का सबसे कारगर और स्वस्थ विकल्प है। अगर आप हस्तमैथुन करते हैं तो आपके मन में एक प्रश्न जरूर उत्पन्न होता होगा कि हस्तमैथुन से हमारे शरीर पर बुरा असर पड़ता है या नहीं? इसी विषय पर प्रकाश डालते हुए आज हम हस्तमैथुन से जुड़ी उन सभी चीजों के बारे में बताएंगे जिसके बारे में आपको जानना चाहिए ताकि आपके मन में हस्तमैथुन को लेकर जो शंकाएं हैं वो दूर हो जाएं। तो चलिये आगे बढ़िए और हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान (Pros and Cons of Masturbation in Hindi) पढ़िये। इन्हें भी पढ़ें – काजू के फायदे और नुकसान!

हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान – आज के युवा

इस लेख में हम हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान के बारे के बारे में पढ़ेंगे। आज के युवाओं में सेक्स के प्रति इतनी जिज्ञासा उत्पन्न हो गई है कि वे सेक्स का सुख प्राप्त करने के लिए हस्तमैथुन का सहारा लेने लगे हैं। हस्तमैथुन जहां कामोत्तेजना को शांत करने का कार्य करता है वहीं इसके शारीरिक लाभ और हानि भी देखने को मिलते हैं। अगर आप हस्तमैथुन करते हैं तो आपको पता ही होगा कि हस्तमैथुन के दौरान हमारे शरीर में क्या परिवर्तन देखने को मिलते हैं और इसका एहसास कैसा होता है। जाहिर सी बात है कि हस्तमैथुन करने का एहसास इतना आनंददायक होता है कि हम यौन सुख के चरम सीमा हो प्राप्त करने के लिए अपने गुप्तांगों को बड़ी तेजी से उत्तेजित करते हैं और जब स्खलन होता है तब हमारे शरीर को सेक्स तृप्ति का अनुभव होता है। इन्हें भी पढ़ें – वजन घटाने के घरेलू उपाय!

अगर हम हस्तमैथुन का सबसे पहला परिणाम जानने की कोशिश करें तो यह होगा कि “हस्तमैथुन के दौरान हमारे शरीर से एक लिक्विड इजेक्ट (Eject) होता है जिसे वीर्य कहते है। जैसे यह हमारे शरीर से निकलता है तो इसकी पूर्ति करनी भी जरूरी है”। इसकी पूर्ति तो हमारा शरीर कर लेता है। लेकिन कुछ बातों का ध्यान रखते हुए एक स्वस्थ हस्तमैथुन आपके शरीर पर नकारात्मक प्रभाव नहीं डालता है। बस आपको हस्तमैथुन से जुड़े लाभ और हानि के बारे में पता होना चाहिए ताकि आप बिना किसी शंका के हस्तमैथुन का आनंद उठा सकें। तो आइये सबसे पहले जानते हैं हस्तमैथुन करने से हमारे शरीर को क्या-क्या फायदे होते हैं?

हस्तमैथुन करने के फायदे — Benefits of Masturbation in Hindi

हस्तमैथुन एक प्राकृतिक शारीरिक क्रिया है जिसके बहुत से शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य लाभ हैं। जैसे:-

  • यौन उत्तेजना शांत करना
  • सेक्स संबंध को मजबूत बनाता है
  • सेक्स के दौरान शीघ्र स्खलन से राहत
  • मानसिक तनाव कम करता है
  • अच्छी नींद आती है
  • एकाग्रता बढ़ती है
  • शारीरिक पीड़ा कम करता है
  • सेक्स में सुधार होता है

जब हमारे गुप्तांग उत्तेजित और यौन के चरम सुख को प्राप्त करने के लिए हम तैयार होते हैं तो उसे शांत करने के दो ही तरीके हैं या तो आप सेक्स करो या फिर हस्तमैथुन। यौन सुख प्राप्त करने के लिए हम अपने शरीर के गुप्तांगों को सक्रिय कर उसके साथ खेलते है ताकि हमें वो एहसास प्राप्त हो सके जिसके लिए हम लालायित होते हैं। अपने गुप्तांगों के साथ खेलने का आनंद ही हमे हस्तमैथुन करने के लिए प्रेरित करता है। हस्तमैथुन का एहसास जितना आनंददायक है उतना ही इसके लाभ भी हैं। आइये एक एक करके इसके लाभ पर प्रकाश डालते हैं।

  1. यौन उत्तेजना शांत करना

अगर आप अपने किसी साथी के साथ शारीरिक संबंध बनाते हैं तो उसके एहसास को हस्तमैथुन के एहसास के साथ तुलना करना संभव नहीं है। लेकिन, हाँ! आप अपनी यौन उत्तेजना को शांत करने के लिए हस्तमैथुन का सहारा ले सकते हैं। यौन उत्तेजना को शांत करने का सबसे सफल और स्वस्थ उपाय हस्तमैथुन है।

  1. आप सेक्स संबंध को मजबूत बना सकते हैं

सेक्स के दौरान कई जोड़ें एक दूसरे का हस्तमैथुन करते हैं जिसकी वजह से उनके बीच लगातार यौन सुख का माहौल बना रहता है। अगर आपका साथी आपके चरम सुख हासिल करने के पहले ही स्खलित हो जाता है तो हस्तमैथुन के जरिये आप अपने चरम सुख का आनंद ले सकते हैं।

  1. सेक्स के दौरान शीघ्र स्खलन से राहत

शारीरिक संबंध बनाने से पहले अगर आप हस्तमैथुन करते हैं तो सेक्स के दौरान आप अपने साथी के साथ लंबे समय तक लुफ़्त उठा सकते हैं। अगर आप अपने साथी के साथ लंबे समय तक सेक्स का आनंद उठाना चाहते हो तो सेक्स से पहले हस्तमैथुन करना आपके लिए लाभकारी हो सकता है।

  1. मानसिक तनाव कम करता है

हस्तमैथुन के दौरान आपका मस्तिष्क एक ही दिशा में सोचता है और इसी वजह से आप रिलैक्स अनुभव करते हैं। जब भी हम किसी भी रूप में सेक्स के बारे में सोचते हैं तो हमारा मस्तिष्क डोपामाइन (Dopamine) नामक रसायन छोड़ता है जो हमें खुशी का अनुभव दिलाता है। यानि जब जब आप सेक्स के बारे में सोचते हैं, आपका मन इसके प्रति सक्रिय हो जाता है और आपको एक अलग खुशी मिलती है। ठीक ऐसे ही जब आप सेक्स या हस्तमैथुन करते हैं तो मस्तिष्क एंडोर्फिन (Endorphins) नामक रसायन छोड़ता है जो हमें तनाव मुक्त करने में कारगर होता है।

अगर आप तनाव में है तो हस्तमैथुन आपके तनाव को काफी हद तक कम कर सकता है। लेकिन हाँ, अगर आप हमेशा तनाव में रहते हैं तो अपने तनाव को कम करने के लिए हमेशा हस्तमैथुन का सहारा लेना सही नहीं है। ऐसा करने से आपको इसकी लत लग सकती है और ये आपके शरीर में दूसरी एब्नार्मलिटी को जन्म दे सकता है।

  1. अच्छी नींद आती है

जहां एंडोर्फिन रसायन आपको मानसिक तनाव से निजात दिलाता है वहीं ये ब्लड प्रेशर को कम करके आपके शरीर को शिथिलता प्रदान करता है। जिसकी वजह से अच्छी नींद आती है। आप हस्तमैथुन के बाद अच्छी नींद का अनुभव जरूर करते होंगे।

  1. एकाग्रता बढ़ती है

हस्तमैथुन से तनाव तो कम होता ही है साथ ही मन को शांति का अनुभव भी होता है जो मस्तिष्क को एकाग्र करने के लिए लाभकारी है।

  1. शारीरिक पीड़ा कम करता है

शारीरिक पीड़ा से राहत दिलाने में हस्तमैथुन एक अच्छा विकल्प हो सकता है। हस्तमैथुन के दौरान हमारा मस्तिष्क सिर्फ कामुकता के सागर में घूमता रहता है और इसी वजह से हमें शारीरिक पीड़ा का अनुभव नहीं होता है।

  1. सेक्स में सुधार

जो व्यक्ति हस्तमैथुन करता है उसके गुप्तांग की संवेदना धीरे धीरे कम होती जाती है जिसकी वजह से चरम सुख पाने के लिए उसे काफी देर तक हस्तमैथुन करना पड़ता है। अगर वही व्यक्ति अपने साथी के साथ शारीरिक संबंध बनाए तो काफी देर तक काम-क्रिया में व्यस्त रह सकता है।

आपने यह तो जान लिया कि हस्तमैथुन के क्या क्या फायदे हो सकते हैं। चलिए, अब इसके नुकसान के बारे में जानते हैं।

हस्तमैथुन के नुकसान — Side effects of Masturbation in Hindi

वैसे तो कोई वैज्ञानिक तथ्य नहीं है जो इस बात का समर्थन करे कि हस्तमैथुन करने से शरीर को कोई नुकसान नहीं होता है। लेकिन हां, अगर आपको हस्तमैथुन करने की लत लग गई है और आप रोज़ाना हस्तमैथुन करके अपनी कामुक इच्छाओं को शांत करते हैं तो आपको ये ज़रूर जान लेना चाहिये कि इससे आपके शरीर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

जहां हस्तमैथुन आपके शरीर के लिए लाभकारी है वहीं अगर हस्तमैथुन नियमित रूप से किया जाए तो यह आपके शरीर का दुश्मन भी बन सकता है। हस्तमैथुन के निम्नलिखित नुकसान हैं।

  • यौन संवेदनशीलता में कमी होना
  • लिंग या योनि में सूजन
  • लिंग का टेढ़ा होना
  • खुद के प्रति ग्लानि होना
  • शरीर कमजोर होना
  • दैनिक जीवन में खलल पड़ना
  • हस्तमैथुन की लत लगना
  • शुक्राणु की संख्या पर असर पड़ना
  • पाचन संबंधित शिकायत होना

हर चीज की एक सीमा होती है। अगर आप सीमा पार कर आगे जाते हैं तो वह आपके लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है। हस्तमैथुन भी इसी का एक अच्छा उदाहरण है, अगर आप निर्धारित रूप से या कभी कभी हस्तमैथुन करते हैं तो इसकी वजह से आपके शरीर को कोई हानि नहीं पहुँचती है। लेकिन अगर यही अनियमित रूप से किया जाए तो इसका परिणाम आपके शरीर को भुगतना पड़ सकता है।

  1. यौन संवेदनशीलता में कमी होना

हस्तमैथुन के दौरान पुरुष अपने लिंग को पकड़ कर आगे पीछे करते हैं जिससे उनके लिंग पर बार बार घर्षण (Friction)होता है और उनकी संवेदनशीलता धीरे धीरे कम होने लगती है। ठीक इसी तरह जब महिलाएं हस्तमैथुन करती हैं तो वे अपनी उंगलियों से अपनी योनि के ऊपरी और अंदरूनी हिस्से को जोर जोर से मसलती हैं और अपनी योनि में उंगलियों डाल कर आगे पीछे करती है जिसके कारण उनकी योनि की अंदरूनी संवेदनशील मसल्स अपनी संवेदना धीरे धीरे खोने लगती है।

ज्यादा हस्तमैथुन आपके गुप्तांगों की संवेदना को कम करता है और यौन सुख प्राप्त करने की चरम सीमा समय को बढ़ाता है। जिसकी योनि संवेदनशील नहीं है उसे सेक्स के दौरान चरम सुख का अनुभव प्राप्त करने के लिए काफी समय लगता है।

  1. लिंग या योनि में सूजन होना

अत्यधिक हस्तमैथुन आपके लिंग/योनि में सूजन ला सकता है। हस्तमैथुन के दौरान हमारे गुप्तांगों में रक्त का दवाब अधिक होने के कारण वो सख्त़ हो जाते हैं और जब स्खलन के चरम सुख को पाने के लिए जोर जोर से अपने गुप्तांगों को मसलते हैं तो उसमे सूजन आ जाती है।

  1. लिंग का टेढ़ा होना

अगर आप हद से ज्यादा हस्तमैथुन करते हैं और वो भी अपने एक ही हाथ से तो आपका लिंग एक तरफ से टेढ़ा हो जाता है। क्योंकि आप हस्तमैथुन के दौरान अपने लिंग को एक दिशा प्रदान करते हैं जिसकी वजह से वो एक तरफ से मुड़ जाता है। आपका लिंग टेढ़ा न हो इसके लिए आपको हस्तमैथुन के दौरान बारी बारी से अपने दोनों हाथों का प्रयोग करना चाहिए।

  1. खुद के प्रति ग्लानि होना

कामोत्तेजना के चरम सुख को प्राप्त करने के लिए हमारा मन हमें हस्तमैथुन करने के लिए प्रेरित करता है। हस्तमैथुन जहां आपके शरीर को कामुक सुख प्रदान करता है वहीं अनियमित हस्तमैथुन के बाद थोड़ी ग्लानि भी महसूस होती है। अगर आप हमेशा हस्तमैथुन करते हैं तो इस प्रकार की मानसिकता स्वाभाविक है। असमय हस्तमैथुन करने से मानसिक रूप से हमें बुरा महसूस होता है।

  1. शरीर कमजोर होना

हस्तमैथुन करने से शरीर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। अगर आप असमय हस्तमैथुन करते हैं और आपका खान पान सही नहीं है तो आपका शरीर कमजोर हो सकता है। हस्तमैथुन करने के बाद हमारे शरीर से जो वीर्य बाहर निकलता है उसकी पूर्ति शरीर खुद करता है। लेकिन अगर आपका खान पान सही नहीं है तो वीर्य की पूर्ति कैसे होगी? वीर्य की पूर्ति के लिए आपका आहार सही होना चाहिए नहीं तो शरीर को कमजोर होते देर नहीं लगती।

  1. दैनिक जीवन में खलल डालता है

हर समय कामोत्तेजना के सागर में गोते लगाना आपको हस्तमैथुन करने के लिए प्रेरित करता है। अगर आप हर समय सेक्स, ब्लू फिल्में और एडल्ट मैगजीन पर ज्यादा ध्यान देते हैं तो इसकी वजह से पूरे दिन आपके मन में सेक्स और हस्तमैथुन का ख्याल ही रहता है जो आपके दूसरे काम पर बाधा डालता है।

  1. हस्तमैथुन की लत

सेक्स की इच्छा की पूर्ति करने के लिए जरूरी नहीं कि आपको एक साथी की जरूरत पड़े। आप हस्तमैथुन के जरिये भी अपनी शारीरिक भूख को शांत कर सकते हैं। लेकिन सेक्स से संबंधित सभी पहलुओं को अपने निजी जीवन में शामिल कर लेना सही नहीं है। जहां हस्तमैथुन आपके गुप्तांगों को सुख देने का काम करता है वहीं यह सुख आपके लिए एक लत बन सकता है। हस्तमैथुन की लत का यही मतलब है कि आप सेक्स के अलावा कुछ सोचते ही नहीं और आपका मन बस सेक्स पर ही केन्द्रित रहता है जिसकी वजह से आप अपने किसी भी कार्य को एकाग्र मन से नहीं कर पाते हैं।

  1. शुक्राणु की संख्या पर असर

हस्तमैथुन के सुख को प्राप्त करने के लिए हम अपने वीर्य को स्खलित करते हैं जिसकी पूर्ति शरीर कर लेता है। बार बार हस्तमैथुन करने से शरीर उसकी पूर्ति करता है लेकिन धीरे धीरे वीर्य की पूर्ति करने की काबिलीयत नष्ट हो जाती है। जिसकी वजह वीर्य में मौजूद शुक्राणुओं की संख्या पर इसका बुरा असर पड़ता है।

  1. पाचन संबंधित शिकायत

भोजन के तुरंत बाद हस्तमैथुन आपके पाचन क्रिया में बाधा डाल सकता है। अगर आपने अभी अभी खूब सारा भोजन किया है और भोजन करने के तुरंत बाद हस्तमैथुन करने लग गए तो आपका शरीर भोजन को पचाने के बजाय आपके यौन सुख को पूरा करने में लग जाता है। जिसकी वजह से आपकी पाचन क्रिया प्रभावित होती है। इसलिए भोजन के तुरंत बाद हस्तमैथुन करना सही नहीं है।

हस्तमैथुन कितनी मात्रा में करें 

इस प्रश्न का उत्तर इस बात पर निर्भर करता है कि आपकी हेल्थ कैसी है। कई लोग हर रोज हस्तमैथुन करते हैं और कई लोग हफ्ते में एक बार ही करते हैं। इसलिए आप अपने समय और स्वास्थ्य का ख्याल रखते हुए ही हस्तमैथुन करें। देखा जाए तो हफ्ते में एक या दो बार हस्तमैथुन करना स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है और शरीर इसका इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है।

उम्मीद करते हैं की हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान ब्लॉग को पढ़ने के बाद आप हस्तमैथुन के फायदे और नुकसान (Pros and Cons of Masturbation Hindi Me) से जुड़ी सभी जरुरी बातें जान गए होंगे।

Related posts

Leave a Comment